Loading...

15th August Independence Day Speech in Hindi, English, Marathi, Gujarati, Telugu, Punjabi

Check out the below 15th August Independence Day Speech in Hindi, English, Marathi, Gujarati, Telugu, Punjabi.

15th August Independence Day Speech

15th August Independence Day Speech in Hindi

 

आजादी कहें या स्वतंत्रता ये ऐसा शब्द है जिसमें पूरा आसमान समाया है। आजादी एक स्वाभाविक भाव है या यूँ कहें कि आजादी की चाहत मनुष्य को ही नहीं जीव-जन्तु और वनस्पतियों में भी होती है। सदियों से भारत अंग्रेजों की दासता में था, उनके अत्याचार से जन-जन त्रस्त था। खुली फिजा में सांस लेने को बेचैन भारत में आजादी का पहला बिगुल 1857 में बजा किन्तु कुछ कारणों से हम गुलामी के बंधन से मुक्त नही हो सके। वास्तव में आजादी का संघर्ष तब अधिक हो गया जब बाल गंगाधर तिलक ने कहा कि “स्वतंत्रता हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है”।

अनेक क्रांतिकारियों और देशभक्तों के प्रयास तथा बलिदान से आजादी की गौरव गाथा लिखी गई है। यदि बीज को भी धरती में दबा दें तो वो धूप तथा हवा की चाहत में धरती से बाहर आ जाता है क्योंकि स्वतंत्रता जीवन का वरदान है। व्यक्ति को पराधीनता में चाहे कितना भी सुख प्राप्त हो किन्तु उसे वो आन्नद नही मिलता जो स्वतंत्रता में कष्ट उठाने पर भी मिल जाता है। तभी तो कहा गया है कि

पराधीन सपनेहुँ सुख नाहीं।

जिस देश में चंद्रशेखर, भगत सिंह, राजगुरू, सुभाष चन्द्र, खुदिराम बोस, रामप्रसाद बिस्मिल जैसे क्रान्तिकारी तथा गाँधी, तिलक, पटेल, नेहरु, जैसे देशभकत मौजूद हों उस देश को गुलाम कौन रख सकता था। आखिर देशभक्तों के महत्वपूर्ण योगदान से 14 अगस्त की अर्धरात्री को अंग्रेजों की दासता एवं अत्याचार से हमें आजादी प्राप्त हुई थी। ये आजादी अमूल्य है क्योंकि इस आजादी में हमारे असंख्य भाई-बन्धुओं का संघर्ष, त्याग तथा बलिदान समाहित है। ये आजादी हमें उपहार में नही मिली है। वंदे मातरम् और इंकलाब जिंदाबाद की गर्जना करते हुए अनेक वीर देशभक्त फांसी के फंदे पर झूल गए। 13 अप्रैल 1919 को जलियाँवाला हत्याकांड, वो रक्त रंजित भूमि आज भी देश-भक्त नर-नारियों के बलिदान की गवाही दे रही है।

आजादी अपने साथ कई जिम्मेदारियां भी लाती है, हम सभी को जिसका ईमानदारी से निर्वाह करना चाहिए किन्तु क्या आज हम 66 वर्षों बाद भी आजादी की वास्तिवकता को समझकर उसका सम्मान कर रहे है? आलम तो ये है कि यदि स्कूलों तथा सरकारी दफ्तरों में 15 अगस्त न मनाया जाए और उस दिन छुट्टी न की जाए तो लोगों को याद भी न रहे कि स्वतंत्रता दिवस हमारा राष्ट्रीय त्योहार है जो हमारी जिंदगी के सबसे अहम् दिनों में से एक है ।

एक सर्वे के अनुसार ये पता चला कि आज के युवा को स्वतंत्रता के बारे में सबसे ज्यादा जानकारी फिल्मों के माध्यम से मिलती है और दूसरे नम्बर पर स्कूल की किताबों से जिसे सिर्फ मनोरंजन या जानकारी ही समझता है। उसकी अहमियत को समझने में सक्षम नही है। ट्विटर और फेसबुक पर खुद को अपडेट करके और आर्थिक आजादी को ही वास्तिक आजादी समझ रहा है। वेलेंटाइन डे को स्वतंत्रता दिवस से भी बङे पर्व के रूप में मनाया जा रहा है।

आज हम जिस खुली फिजा में सांस ले रहे हैं वो हमारे पूर्वजों के बलिदान और त्याग का परिणाम है। हमारी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि मुश्किलों से मिली आजादी की रुह को समझें। आजादी के दिन तिरंगे के रंगो का अनोखा अनुभव महसूस करें इस पर्व को भी आजद भारत के जन्मदिवस के रूप में पूरे दिल से उत्साह के साथ मनाएं। स्वतंत्रता का मतलब केवल सामाजिक और आर्थिक स्वतंत्रता न होकर एक वादे का भी निर्वाह करना है कि हम अपने देश को विकास की ऊँचाइयों तक ले जायेंगें। भारत की गरिमा और सम्मान को सदैव अपने से बढकर समझेगें। रविन्द्र नाथ टैगोर की कविताओं से कलम को विराम देते हैं।

हो चित्त जहाँ भय-शून्य, माथ हो उन्नत
हो ज्ञान जहाँ पर मुक्त, खुला यह जग हो
घर की दीवारें बने न कोई कारा
हो जहाँ सत्य ही स्रोत सभी शब्दों का
हो लगन ठीक से ही सब कुछ करने की
हों नहीं रूढ़ियाँ रचती कोई मरुथल
पाये न सूखने इस विवेक की धारा
हो सदा विचारों ,कर्मों की गतो फलती
बातें हों सारी सोची और विचारी
हे पिता मुक्त वह स्वर्ग रचाओ हममें
बस उसी स्वर्ग में जागे देश हमारा।

स्वतंत्रता दिवस के पावन पर्व पर सभी पाठकों को हार्दिक बधाई।

जय भारत

15th August Independence Day Speech in English

Every year on August 15th Independence day of India is celebrated all over the country. For past years Independence Day Speech is being searched on Internet at a very high scale. We have written some sample speeches for this year’s Independence day. We hope that they will help you in writing your own speech for this 15th August.

Independence day speeches are given at different levels. In almost all schools, an Independence day celebration ceremony takes place. Where teachers as well as students give speeches on Independence of our country. The main motto of these speeches is to make people learn about the fight and struggle done by the freedom fighters.

15 August speech should be written while keeping the objective and audience in mind. If you have to give speech in your office then it should be informative and should contain facts and dates in it. On the other hand if you have to appear in a function at school, the speech should be interesting and inspiring. It should intend to fill students with patriotism.

Go through the speeches written by us and then write a speech of your own for the auspicious occasion which is known as the Independence day of India. Jai Hind!

 

15th August Independence Day Speech in Marathi

१५ ऑगस्ट आपला स्वातंत्र्यदिन. ब्रिटिश राजवटीच्या १५० वर्षांच्या जोखडातून मुक्ती मिळल्याचा दिवस…… अवघा देश स्वातंत्र्याचा जल्लोष करीत होता. मात्र मराठवाडा….. गुलामीतच होता. कारण आपल्या प्रदेशावर हैदराबादच्या निझाम संस्थानाची सत्ता…. होती व याचा राजा होता ‘निझाम मीर उस्मानअली….. खान बहादूर नियामुद्यौला निजाम-उल-मुल्क आसफजाह’. त्याकाळी भारतात जेवढी….. संस्थाने होती त्यात सर्वात मोठे संस्थान हे….. निझामाचे होते. देश स्वतंत्र होताच ही संस्थाने भारतात….. सामील झाली पण निझामाने मात्र सामील होण्यास नकार दिला.

हैदराबाद संस्थानात तेलंगणा, कर्नाटक व मराठवाडा….. असा प्रदेश निझामाच्या अधिपत्त्याखाली होता व संस्थानाची लोकसंख्या होती १ कोटी ६० लाख. अत्यंत समृद्ध असा प्रदेश असल्यामुळे….. निझामाला सत्ता सोडवत नव्हती. शेवटी स्वामी रामानंद तीर्थ….. यांच्या नेतृत्वाखाली मुक्तिसंग्राम सुरू झाला…… जनतेचा हा लढा मोडून काढण्यासाठी निझामाचा सेनापती कासीम रिझवी याने जनतेचा अनन्वीत छळ करण्यास सुरुवात केली. या आंदोलनात स्वामी रामानंद तीर्थ यांच्या बरोबर दिगंबरराव बिंदू,….. गोविंदभाई श्रॉफ, रविनारायण रेड्डी…., देवीसिंग चौहान, भाऊसाहेब वैशंपायन,…. विजयेंद्र काबरा, बाबासाहेब परांजपे यांनी पुढाकार घेतला व लढा आणखी….. तीव्र केला. जनतेचा सहभाग वाढू लागला….. खेड्यापाड्यांत हा लढा पसरला.

स्वत:च्या जीवाची पर्वा न करता….. अनेक वीर पुढे सरसावले. यात पूल उडविणारे….. काशिनाथ कुलकर्णी, मराठवाड्याची वीरांगना…. बदनापूर तालुक्यातील एका छोट्याशा खेड्यातील धोपटेश्वर गावाची दगडाबाई शेळके, रोहिल्यांच्या नाकात दम आणणारे बीडचे विठ्ठलराव काटकर, बर्दापूर पोलिस….. स्टेशन उडवून देणारे लातूरचे हरिश्चंद्रजी जाधव, नळदुर्ग ….ताब्यात घेणारे उस्मानाबाद जिल्ह्यातील जनार्दन होटीकर गुरुजी, परभणीतून रझाकारांना पळता भुई थोडी करणारे सूर्यभान पवार, विनायकराव…. चारठाणकर, विश्वनाथराव कात्नेश्वरकर तसेच नांदेडचे जीवनराव बोधनकर…., साहेबराव बारडकर, देवराव कवळे, श्रीधर वर्तक, जानकीलालजी राठी, शंकरराव जाधव, जालन्याचे जनार्दन मामा, किशनसिंग राजपूत, गोविंदराव पानस….रे, बहिर्जी बापटकर, राजाभाऊ वाकड, विश्वनाथ भिसे, जयंतराव पाटील इ. नी….. आपले प्राण पणाला लावले व या लढ्यास बळ….दिले. हा लढा ‘जयहिंद चळवळ’ या नावानेही ओळखला जातो.

Loading...

शेवटी निझाम शरण येत नाही हे….. पाहून १३ सप्टेंबर १९४८ रोजी भारत सरकारने….. पोलिस कारवाई सुरू केली. मुख्य फौजा …..सोलापूरकडून घुसल्या. १५ सप्टेंबरला औरंगाबाद सर करून …..हैदराबादकडे रवाना झाल्या. निझामाची चारही बाजूंनी कोंडी झाली….. निझामाचा सेनाप्रमुख जन. अल इद्रीस याने ….१७ सप्टेंबर १९४८ रोजी शरणागती पत्करली व ….निझामही शरण आला व निझामाच्या जोखडातून…. मराठवाडा व इतर प्रदेश स्वतंत्र होऊन संग्राम यशस्वी झाला. मित्रांनो, देश स्वतंत्र…. झाल्यानंतर एका वर्षानंतर ख-या अर्थाने…. आपण स्वतंत्र भारताचे नागरिक झालो…

 

15th August Independence Day Speech in Gujarati

પ્રતિષ્ઠિત શિક્ષક, અને મારા પ્રિય મિત્ર,
ગુડ મોર્નિંગ અને ખૂબ જ ગરમ બધા અંતે હાજર છે.

આજે, ઓગસ્ટ 15, 2015, અમે ભારતીય સ્વતંત્રતા અમારી 69 વર્ષ ઉજવણી કરવામાં આવે છે, ભારત બ્રિટિશ શાસન દરમિયાન ભારત …… … .. ના જગત માં બ્રિટિશ શાસન હેઠળ હતું લાંબા ભીષણ પીડાતા કરવામાં આવી હતી. આજે શિક્ષણ, પરિવહન, અને ફ્રીડમ અમે …. આવા 1947 પહેલાં કેસ ન હતી, પરંતુ બિઝનેસ અને દરેક ક્ષેત્રમાં … .. …., કે … .. બધા લોકો માટે ત્યાં સ્વતંત્રતા છે કહે હાર્ડ સંઘર્ષ જે મહાન ભારતીય નેતા લાવવા છે …. અમારી સફળતા સ્વાતંત્ર્ય પર હુમલો …. બ્રિટિશ શાસન …. ભારત સ્વતંત્રતા જીત્યો હતો.

આ દિવસ તેમજ ઉજવવામાં આવે છે …. કેવી રીતે દિવસ કે સ્વતંત્રતા અને સુખ છે … .. મહત્વ …. બાળકો આજે … અમારા જીવન સુંદર છે …. બ્રિટિશ બાળકો / રાજ્ય અને શાળા પર જાઓ કરવાની મંજૂરી ન હતી વચ્ચે બાળકો, તે મફત ટ્રેડિંગ મંજૂરી ન હતી. … બધા મજા. ભારત અને ભારતીય બ્રિટિશ બજાર અને વિશાળ નફો વેચવામાં આવે છે અને નથી. … .. ગ્રેટ ઇન્ડિયન સ્વાતંત્ર્ય સેનાની નેતાજી સુભાષ ચંદ્ર બોઝ, મહાત્મા … .ગાંધીજી, જવાહરલાલ નેહરુ, બાલ ગંગાધર તિલક, … .Lala Lajpath રે સમજવામાં આવ્યો હતો ગુલામો બધા પ્રખ્યાત દેશભક્ત હતા …. … સ્વતંત્રતા માટે ભારતની લડાઈ.

આજે, અમે તો …. ગાઝા ઉદાહરણ ભટકી …. ઇઝરાયેલ રાજ્ય, બે લોકો માર્યા ગયા હતા અને તેથી ત્યાં છે …. ખરાબ વર્તન. … નાના બાળકો. અને તે પણ નવા જન્મેલા બાળકો અને નાના બાળકો … .. ઘરો, હોસ્પિટલો બચાવવાની …. શાળાઓ માનવતા વગર માર્યા ગયા છે એકવાર વગેરે હુમલો અમે આજે એક ખૂબ જ અમારી સ્વતંત્ર ભારતના તમામ શક્તિ હોય છે … .. … .. આજે દમન એક તબક્કો હતા …. ન્યાયિક સિસ્ટમ સેટ કરવામાં આવી ન હતી તેમજ દેશના લોકશાહી છે, પરંતુ માત્ર મારફતે પ્રાપ્ત કરવા માટે તમામ … .. …. ભારતીય આર્મી …. આ લોકો નેતા અને હાર્ડ કામ કરે છે અને ખૂબ બલિદાન આપે છે. આયોજન નેતા …. બ્રિટિશ સામે ઘણા હલનચલન … .અને ગયા વર્ષે તેમની ધ્યેય હાંસલ કરે છે. ગાંધી, બિન-હિંસા દ્વારા દેશમાં અમારા દેશના મહત્વપૂર્ણ … .અને લાવવામાં સ્વતંત્રતા પિતા મુખ્ય નેતા છે …. અને સત્યાગ્રહ પદ્ધતિઓ. ગાંધી … એક સ્વપ્ન … .દેશ અહિંસા, અમારા દેશમાં શાંતિ હતી ..

અમારી ફરજ તરીકે ભારતીય હેડ …. હું દેશમાં કામ કર્યું છે …. ભારતમાં વિકાસ અમે જુઓ, કારણ કે આજે … .. …. એક મહાન નેતા અને ઘણા બલિદાન પરિણામ છે …. તેઓ તેમના સપના છે. તે માટે અમારા વિશેષાધિકાર છે …. અને દેશના રાષ્ટ્રો વચ્ચે …. … તેમના કામ વિકાસ માટે ..

 

15th August Independence Day Speech in Telugu

స్వాతంత్ర్య దినోత్సవం–ప్రతీ దేశానికీ పరుల పాలన/ఆక్రమణ నుంచి విముక్తి లభించిన రోజుని స్వాతంత్ర్య దినోత్సవంగా జరుపుకోవటం ఆనవాయితీ. ఆగష్టు పదిహేను (August 15) భారత దేశపు స్వాతంత్ర్య దినోత్సవం గా జరుపుకోబడుతోంది. 1947 ఆగష్టు పదిహేనున భారత దేశం వందల ఏళ్ళ బానిసత్వాన్నుంచి విడుదలయింది.దానికి గుర్తుగా, స్వాతంత్ర్యానంతర ప్రభుత్వం ఆగష్టు పదిహేనుని భారత స్వాతంత్ర్య దినోత్సవంగా, జాతీయ శెలవు దినంగా ప్రకటించి అమలు చేస్తోంది.

బ్రిటిష్ సామ్రాజ్యం నుంచి భారతీయులకు విముక్తి కలిగించి వారిచే ఆదరింపబడే ఒక గొప్ప స్వాతంత్ర్య సమరయోధుడైన గాంధీజీ (మోహన్ దాస్ కరంచంద్ గాంధీ)ని గురించి తెలియని వారంటూ ఉండరు. శాంతి ఆయుధాన్ని చేతబూని స్వాతంత్ర్యం సంపాదించిపెట్టిన జాతిపిత సత్యము, అహింసలను దేవతలుగా కొలిచారు.

ఆంగ్లేయుల పాలన నుండి భారతదేశానికి స్వాతంత్ర్యము సాధించిన నాయకులలో జాతిపిత అగ్రగణ్యుడు. సహాయ నిరాకరణ, సత్యాగ్రహము మహాత్మా గాంధీ.. పూజాసామాగ్రి. 20వ శతాబ్దిలోని రాజకీయనాయకులలో అత్యధికముగా మానవాళిని ప్రభావితము చేసిన రాజకీయ నాయకునిగా కేబుల్ న్యూస్ నెట్‌వర్కర్, యూఎస్ఎ (సిఎన్ఎన్) జరిపిన సర్వేలో ప్రజలు గుర్తించారు.

కొల్లాయి గట్టి, చేత కర్రబట్టి, నూలు వడకి, మురికివాడలు శుభ్రం చేసి, అన్ని మతాలూ, కులాలూ ఒకటే అని చాటి, ఆ మహాత్ముడు రవి అస్తమించని బ్రిటిష్ సామ్రాజ్యాన్ని గడగడలాడించాడు. సత్యాగ్రహమూ, అహింస పాటించడానికి ఎంతో ధైర్యము కావాలని బోధించాడు. మహాత్ముడనీ, జాతిపిత అనీ పేరెన్నిక గన్న గాంధీజీని స్వాతంత్ర్య దినోత్సవ సందర్భంగా స్మరించుకుందాం.. అందరికీ స్వాతంత్ర్య దినోత్సవ శుభాకాంక్షలు…!

 

15th August Independence Day Speech in Punjabi

ਡਿਸਟਿੰਗੂਇਸ਼ਡ ਅਧਿਆਪਕ, ਅਤੇ ਮੇਰੇ ਪਿਆਰੇ ਮਿੱਤਰ, ਚੰਗਾ ਸਵੇਰ ਨੂੰ ਅਤੇ ‘ਤੇ ਸਾਰੇ ਨੂੰ ਇੱਕ ਬਹੁਤ ਹੀ ਨਿੱਘਾ ਮੌਜੂਦ ਹੈ. ਅੱਜ, 15 ਅਗਸਤ, 2015, ਆਜ਼ਾਦੀ ਦੀ ਸਾਡੀ 69 ਸਾਲ ਸਾਨੂੰ ਭਾਰਤ ਵਿਚ ਬ੍ਰਿਟਿਸ਼ ਸ਼ਾਸਨ ਦੇ ਦੌਰਾਨ, ਭਾਰਤ ਦੇ ਮਨਾ ਰਹੇ ਹਨ, ਡਰਾਉਣਾ ਨੂੰ ਇੱਕ ਲੰਬੇ ਪੀੜਤ ਹੋ ਗਿਆ ਸੀ …… … .. ਦੇ ਰਾਜ ਵਿਚ ਬ੍ਰਿਟਿਸ਼ ਰਾਜ ਅਧੀਨ ਸੀ. ਅੱਜ, ਸਿੱਖਿਆ, ਆਵਾਜਾਈ, ਅਤੇ ਸਾਨੂੰ … ਆਜ਼ਾਦੀ. ਅਜਿਹੇ 1947 ਦੇ ਅੱਗੇ ਦੇ ਕੇਸ ਨਹੀ ਸੀ, ਪਰ ਕਾਰੋਬਾਰ ਦੇ ਹਰ ਖੇਤਰ ਵਿੱਚ … .. …., ਜੋ ਕਿ … .. … ਕਹਿਣ ਲਈ ਬਹੁਤ ਭਾਰਤੀ ਆਗੂ ਨੂੰ ਲਿਆਉਣ ਲਈ ਸੰਘਰਸ਼ ਕਰਨ ਵਾਲੇ ਸਾਰੇ ਲੋਕ ਲਈ ਦੀ ਆਜ਼ਾਦੀ ਹੁੰਦੀ ਹੈ. … ਸਾਡੇ ਦੀ ਸਫਲਤਾ ਵਿਚ ਆਜ਼ਾਦੀ ‘ਤੇ ਹਮਲਾ ਸੀ. … ਬਰਤਾਨਵੀ ਰਾਜ. ਭਾਰਤ ਨੂੰ ਆਜ਼ਾਦੀ ਜਿੱਤਿਆ. … ਇਹ ਦਿਨ ਦੇ ਨਾਲ ਨਾਲ ਮਨਾਇਆ ਗਿਆ ਹੈ. ਕਿਸ ਦਿਨ ਹੈ, ਜੋ ਕਿ ਆਜ਼ਾਦੀ ਅਤੇ ਖ਼ੁਸ਼ੀ ਨੂੰ ਹੈ … .. ਮਹੱਤਤਾ …. ਬੱਚੇ ਨੇ ਅੱਜ … … ਸਾਡੀ ਜ਼ਿੰਦਗੀ ਨੂੰ ਸੁੰਦਰ ਹੈ. ਦੀ / ਰਾਜ ਅਤੇ ਬੱਚੇ ਵਿਚਕਾਰ ਸਕੂਲ ਜਾਣ ਦੀ ਇਜਾਜ਼ਤ ਦਿੱਤੀ ਸੀ, ਨਾ ਕਿ ਬ੍ਰਿਟਿਸ਼ ਬੱਚੇ, ਉਸ ਨੂੰ ਮੁਫ਼ਤ ਹੈ ਵਪਾਰ ਦੀ ਇਜਾਜ਼ਤ ਨਹੀ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਸੀ.

ਸਾਰੇ ਮਜ਼ੇਦਾਰ. ਭਾਰਤ ਅਤੇ ਬ੍ਰਿਟਿਸ਼ ਬਾਜ਼ਾਰ ਵਿਚ ਵੇਚ ਅਤੇ ਵੱਡੇ ਮੁਨਾਫੇ ਨਹੀ ਹਨ. … .. ਮਹਾਨ ਭਾਰਤੀ ਆਜ਼ਾਦੀ ਘੁਲਾਟੀਏ ਨੇਤਾਜੀ ਸੁਭਾਸ਼ ਚੰਦਰ ਬੋਸ, ਮਹਾਤਮਾ … .Gandhiji, ਜਵਾਹਰ ਲਾਲ ਨਹਿਰੂ, ਬਾਲ ਗੰਗਾਧਰ ਤਿਲਕ, … .Lala Lajpath ਰੇ ਗੁਲਾਮ … ਸਾਰੇ ਮਸ਼ਹੂਰ Patriot ਸੀ, ਹੈ ਨੂੰ ਮੰਨਿਆ ਗਿਆ ਹੈ. … ਆਜ਼ਾਦੀ ਲਈ ਭਾਰਤ ਦੇ ਲੜਾਈ. ਅੱਜ, ਸਾਨੂੰ …. ਉਦਾਹਰਨ ਗਾਜ਼ਾ ਤੱਕ ਭਟਕ …. ਇਸਰਾਏਲ ਦੇ ਰਾਜ ਨੂੰ, ਦੋ ਲੋਕ ਮਾਰੇ ਗਏ ਅਤੇ ਇਸ ਲਈ ਵੀ ਹਨ, ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਸੀ …. ਮੰਦਾ ਵਿਵਹਾਰ ਨੂੰ. … ਛੋਟੇ ਬੱਚੇ. ਅਤੇ ਵੀ ਨਵ-ਦਾ ਜਨਮ ਬੱਚੇ ਅਤੇ ਛੋਟੇ ਬੱਚੇ … .. ਘਰ, ਹਸਪਤਾਲ … ਸੰਕਟਕਾਲੀਨ. ਮਨੁੱਖਤਾ ਸਕੂਲ ਬਿਨਾ ਮਾਰੇ ਗਏ ਹਮਲੇ, ਆਦਿ ਵਾਰ ਸਾਨੂੰ ਸਭ ਨੂੰ ਆਜ਼ਾਦ ਭਾਰਤ ਦੀ ਸ਼ਕਤੀ ਹੈ, ਅੱਜ ਸਾਨੂੰ ਇੱਕ ਬਹੁਤ ਹੀ … .. … .. … ਅੱਜ ਜਬਰ ਦਾ ਇੱਕ ਪੜਾਅ ਸੀ ਹੈ.

ਅਦਾਲਤੀ ਸਿਸਟਮ ਨੂੰ ਦੇਸ਼ ਦੇ ਲੋਕਤੰਤਰ ਦੇ ਰੂਪ ਵਿੱਚ ਦੇ ਰੂਪ ਵਿੱਚ ਚੰਗੀ ਸਥਾਪਿਤ ਕੀਤਾ ਗਿਆ, ਨਾ ਸੀ, ਪਰ ਸਿਰਫ਼ ਸਾਰੇ ਦੁਆਰਾ ਪ੍ਰਾਪਤ ਕਰਨ ਲਈ … .. …. … ਭਾਰਤੀ ਫੌਜ. ਲੋਕ ਦੇ ਆਗੂ ਅਤੇ ਸਖ਼ਤ ਮਿਹਨਤ ਅਤੇ ਕੁਰਬਾਨੀ ਦਾ ਇੱਕ ਬਹੁਤ ਸਾਰਾ. … ਸੰਗਠਿਤ ਦੇ ਆਗੂ. … ਨੂੰ ਆਪਣੇ ਟੀਚੇ ਨੂੰ ਪ੍ਰਾਪਤ ਕਰਨ ਲਈ ਬ੍ਰਿਟਿਸ਼ ਪਿਛਲੇ ਸਾਲ ਦੇ ਖਿਲਾਫ਼ ਕਈ ਅੰਦੋਲਨ .ਅਤੇ. ਰਾਹੁਲ, ਸਾਡੇ ਦੇਸ਼ ਦੇ ਮਹੱਤਵਪੂਰਨ … .ਅਤੇ … ਪਿਤਾ ਦੀ ਆਜ਼ਾਦੀ ਨੂੰ ਲਿਆ ਕੇ ਦੇਸ਼ ‘ਚ ਗੈਰ-ਹਿੰਸਾ ਮੁੱਖ ਨੇਤਾ ਹਨ. ਅਤੇ ਸੱਤਿਆਗ੍ਰਿਹ ਦੇ ਤਰੀਕੇ. ਰਾਹੁਲ ਦੀ ਨਾ-ਹਿੰਸਾ … ਇੱਕ ਸੁਪਨਾ … ਦੇਸ਼, ਸਾਡੇ ਦੇਸ਼ ਨੂੰ ਚੁੱਪ ਸੀ .. ਭਾਰਤੀ ਦੇ ਮੁਖੀ … ਸਾਡੀ ਡਿਊਟੀ ਦੇ ਰੂਪ ਵਿੱਚ. ਮੈਨੂੰ ਦੇਸ਼ ਵਿਚ ਕੰਮ ਕੀਤਾ ਹੈ …. ਭਾਰਤ ਵਿਚ ਵਿਕਾਸ ਲਈ ਸਾਨੂੰ ਕਰਕੇ … .. …. ਅੱਜ ਵੇਖ … ਇੱਕ ਮਹਾਨ ਨੇਤਾ ਅਤੇ ਕਈ ਬਲੀਦਾਨ ਦਾ ਨਤੀਜਾ ਹੈ. ਉਹ ਆਪਣੇ ਸੁਪਨੇ ਦੀ ਪਾਲਣਾ ਕਰੋ. … ਇਹ ਸਾਡੇ ਸਨਮਾਨ ਹੈ. ਅਤੇ ਦੇਸ਼ ਦੀ ਰਾਜੀਨਾਮਾ …. … ਆਪਣੇ ਕੰਮ ਨੂੰ ਵਿਕਸਿਤ ਕਰਨ ਲਈ ..

 
Related News: