Loading...

15 August (Indian Independence Day) Essay in Hindi, English, Gujarati, Marathi

For the celebration of the freedom of our country, India, 15 August Independence Day we share some of the best Essay in Hindi, English, Gujarati, Marathi language. This year we are going to celebrate the 68th anniversary of the independence of our country.

You can share this page on Facebook, Twitter, Google Plus, WhatsApp and more.

Happy Independence Day 15 August Essay in Hindi

15 August Essay in Hindi

15 August Essay in Hindi

शहीदों का खून रंग लाया जिस सरकार के राज्य में सूरज कभी नहीं डूबता था ऐसी शक्तिशाली साम्राज्यवादी सरकार भी आखिर निहत्थे भारतवासियों के सामने झुक गई। 15 अगस्त का पावन दिन आया। परतंत्रता की काली रात्रि समाप्त हुई और स्वतंत्रता का नव प्रभात निकला। भारत माता अपने सौभाग्य पर एक युग के बाद हंस उठी। 

यह दिन भारतीय जीवन का मंगलमय दिन बन गया। भारत के राजनीतिक इतिहास का तो एक स्वर्णिम दिन है। भारत स्वतंत्र हो गया। लेकिन अभी उसके सामने देश के निर्माण का काम था। यह काम धीरे-धीरे हो रहा है। 

खेद की बात है कि इतने वर्ष व्यतीत हो जाने पर भी भारत अपने सपने को साकार नहीं कर पाया। इसका कारण वैयक्तिक स्वार्थों की प्रबलता है। दलबंदी के कारण भी काम में विशेष गति नहीं आती। हमारा कर्तव्य है कि देश के उत्थान के लिए इसकी ईमानदारी का परिचय दें। प्रत्येक नागरिक कर्मठता का पाठ सीखे और अपने चरित्र, बल को ऊंचा बनाए। 

जनता एवं सरकार दोनों को मिलकर देश के प्रति अपने कर्तव्य को पूरा करना है। युवक देश की रीढ़ की हड्डी के समान है। उन्हें देश का गौरव बनाए रखने के लिए तथा इसे संपन्न एवं शक्तिशाली बनाने में अपना योगदान देना चाहिए। राष्ट्र की उन्नति के लिए यह आवश्यक है कि हम सांप्रदायिकता के विष से सर्वथा दूर रहें। सभी निज संस्कृति के अनुकूल ही रचे राष्ट्र उत्थान। 

स्वतंत्रता का मंगल पर्व इस बात का साक्षी है कि स्वतंत्रता एक अमूल्य वस्तु है। अनेक देशभक्तों ने भारत के सिर पर ताज रखने के लिए अपना उपसर्ग कर दिया है। इस दिन हमें एकता का पाठ पढ़ना चाहिए और देश की रक्षा का व्रत धारण करना चाहिए.

 

Happy Independence Day 15 August Essay in English

15 August Essay

15 August Essay

The blood of the martyrs of the state government in which the sun never sets color had brought such a powerful imperialist government finally surrendered before the unarmed Indians. August 15 was a holy day. Ended the night of dependence and independence of the newly morning turned black. After an era laugh at his good fortune arose Bharat Mata.

Loading...

The day was auspicious day of Indian life. India’s political history is a glorious day. India became independent. But just before his country was the work of creation. This is done gradually.

Sadly, even after the lapse of so many years, India couldn’t complete their dream. The reason is the predominance of individual interests. Factionalism in the particular motion does not work. It is our duty to uplift the country to introduce its integrity. Every citizen of the lessons learned diligence and his character, maintain high force.

Together both the public and government to fulfill its duty to the nation. Youth is like the backbone of the country. To maintain the pride of the country and it should contribute to the rich and powerful. For the advancement of the nation, it is imperative that we stay away altogether from the venom of communal-ism. Own culture created favorable uplift the nation.

The Indian Independence Day is witness to the fact that freedom of liberty is a priceless commodity. Many patriots to keep the crown on the head of India has its own prefix. The day of unity we should read the text and should have taken an oath to defend the country.

 

Happy Independence Day 15 August Essay in Gujarati

15 August 1947

15 August 1947

Dil par hamlo tayo ne dil tuti gayu, koi k che k manobal khuti gayu, khoti buma bum che doctroni, aa to tame yadd aaya ne bicharu dhabkaro chuki gayu!!!

Hamnaa Madya Ne Haiya Sudhi Gaya , Tamnne Khabar
Nathi Ke Tame Kya Shudhi Gaya,
Shu Tamsara Vad Ni Khushbu ,Shu Tamaro Rang, Ane
Vato Kari Sarir Ni,
Waah Waah Tame To Atama Shudhi Gaya..
Gujarat Mahatama Gandhi ji janmasthal no Janmasthal, pavitri bhoomi.
Proud to be a Gujarati. Happy Independence Day

 

Happy Independence Day 15 August Essay in Marathi

15 August

15 August

Utsav teen rangacha, abhadi aaj sajla,
natmastak mee tya sarvasathi,
jyani bharatdesh ghadvila.
Ye baat hawao ko bataye rakhna,
Roshni hogi chirago ko jalaye rakhna,
Lahu dekar jiski hifazat humne ki… aise
TIRANGE ko sada Dil me basaye rakhna….
Happy Indian Independence Day …!!

Swtantrydinnchya Sarvana Hardik Shubhechchha, Vicharanch Swatantray, Vishvas Shabdanmadhe, Abhimaan aatmyacha… Chalaa yaa swatantry Dini Salaam karuyaat aaplya Mahaan Rashtrala. Jai Hind

15 August Essay in Hindi (स्वतंत्रता दिवस) Poem

15 August 2014

15 August 2014

भारत में ‘स्वतंत्रता दिवस’ 15 अगस्त को मनाया जाता है। 15 अगस्त, 1947 को भारत ने ब्रिटिश साम्राज्य से मुक्त होकर स्वतंत्रता प्राप्त क़ी थी। इस दिन को राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस के दिन प्रधान-मंत्री लाल किला, दिल्ली में झंडा फहराते हैं। झंडे को सलामी दी जाती है और राष्ट्रीय गीत एवं धुन गयी जाती है। प्रधान-मंत्री राष्ट्र के नाम सन्देश देते हैं और देशभक्तों को याद किया जाता है।

देश के सभी राज्यों क़ी राजधानियों में झंडा रोहण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। सभी सरकारी, अर्द्ध-सरकारी, निगम एवं प्रशासनिक कार्यालयों में झंडारोहण का कार्यक्रम होता है। स्कूल एवं कालेजों में विभिन्न कार्यक्रम, खेल-कूद एवं प्रतियोगिताओं का आयोजन भी होता है तथा विजेताओं को सम्मानित किया जाता है।

 
Related News: